फसल सिफारिशें

खरीफ फसल - ज्वार

आई. पी. एम

एकीकृत कीट प्रंबधन
  • मानसून प्रारंभ होते ही शीघ्र बुवाई करें ।
  • कीट प्रकोप कम करने हेतु अनुशंसित फसल चक्र अपनाए ।
  • ट्ाइकोडर्मा हारजियानम 4 कि.ग्रा. प्रति किग्रा. बीज की दर से बीजोपचार करें ।
  • फसल अवशेष को नष्ट करें एवं ग्रीष्म कालीन गहरी जुताई करें ।
  • हानिकारक कीटों की विभिन्न अवस्थाओं को प्रारंभ में ही हाथों से एकत्रित कर नष्ट करें ।
  • उर्वरकों को संतुलित मात्रा में उपयोग कर फसल की कीटों के प्रति संवेदनशीलता को कम किया जा सकता हैं ।
  • फेरोमोन प्रपंच या प्रकाश प्रपंच (125 वाट मरक्यूरी वेपर बल्ब युक्त का बेधक कीट के वयस्कों की संख्या एवं सक्रीयता के आंकलन हेतु उपयोग करें ।
  • फसल से आशानुरूप उत्पादन हेतु बीज दर बढाकर उपयोग करें एवं बाद में ग्रसित पौधों की आवश्यकतानुसार छटाई करें ।
  • हानिकारक कीटों की विभिन्न अवस्थाओं को प्रारंभ में ही हाथों से एकत्रित कर नष्ट करें ।

एकीकृत रोग प्रंबधन

  • खेत की अच्छी तरह साफ सफाई करें।
  • फसल चक्र अपनाए।
  • पौधों के विकास के लिए मिट्टी में नमी रहना चाहिए।
  • उर्वरकों को संतुलित मात्रा में उपयोग कर फसल की कीटों के प्रति संवेदनशीलता को कम किया जा सकता हैं ।
  • पूर्व फसल के अवशेष, खरपतवार एवं कीट के अन्य पोषक पौधों को उखाड कर नष्ट कर दें ।
  • अत्याधिक सिंचाई नहीं करना चाहिए।
  • पानी का जमाव फसल की किसी अवस्था में न होने दें।

एकीकृत पक्षी प्रंबधन

  • फसल की रोपाई जल्दी करें।
  • पक्षियों के घोसलों को खेत एवं आसपास से नष्ट करें।
  • पक्षियों को डराने के लिए पुतले खेत में बनाकर रखें।
  • पटाखें फोड़ें।
  • सूरजमुखी की खेती करें