फसल सिफारिशें
खरीफ फसल - रागी

उर्वरक प्रबंधन

  • अच्छी उपज के लिए असिंचित फसल में 60:40:30 नत्रजन फास्फोरस और पोटाश डालें।
  • स्फुर और पोटाश की पूरी मात्रा और नत्रजन की आधी मात्रा बोनी के पहले खेत में डालना चाहिए।
  • शेष नत्रजन की मात्रा दो भागों में बांटकर एक भाग बोनी के 30 दिन बाद एवं दूसरी 50 दिन बाद देना चाहिए।
  • वर्षा पर आधारित खेती में रसायनिक खाद की मात्रा 30:20:15 नत्रजन स्फुर और पोटाश क्रमश: डाले।
  • सामान्यत: रसायनिक खाद को बीज से 8 से 12 से.मी गहराई पर बोये।
  • बैन्ड पध्दति से रसायनिक खाद को डालना लाभकारी होता है।
  • 5-10 टन अच्छी सड़ी हुई गोबर की खाद भी खेत में डाले।

सुझाव

  • फसल की निम्नलिखित क्रान्तिक अवस्थाओं में नमी, पोषण,गर्मी, धूप औरखरपतवार आदि के दबाव से बचाना चाहिए
  • अकुंरण, कल्ले आने के पहले, फूले आने पर, फल्ली बनने और फल्ली पकने पर।