फसल सिफारिशें

खरीफ फसल - तिल

आई. पी. एम

  • गहरी जुताई करें जिससे कीड़े,सूत्रकृमि,रोग कारक,परजीवी इत्यादि नष्ट हो जाए और पिछली फसल के अवशेषों को नष्ट करें।
  • प्रतिरोधक किस्मों के प्रमाणित,अम्ल उपचारित बीजों का उपयोग करें।
  • समय पर बोनी करें।
  • खेत की तैयारी, बीज दर, उर्वरक एवं सिंचाई के प्रंबधन के लिए प्रचलित सस्य विधियां को अपनाए।
  • कीटों की विभिन्न अवस्थाओं के प्रारंभ में ही हाथों से उखाड़ कर नष्ट कर दे।
  • आखिरी चुनाई बाद फसल के पूर्व अवशेष निकाल कर नष्ट कर दे।

फसल पश्च तकनीक

सुखाना :-
  • सुखाना एक बहुत महत्वपुर्ण प्रक्रिया है जिससे फसल का भंडारण किया जाता है और कीट इत्यादि से भी बचाया जाता है।
  • सुरक्षित भंडारण हेतु तिल की नमी 9 प्रतिशत होनी चाहिए।
  • फसल को जमीन पर धूप में सुखाया जाता है जिससे नमी 9 प्रतिशत या कम हो जाए।
भंडारण :-
  • भंडारण करना आवश्यक है जिससे जरूरत के समय उपयोग करने के लिए अनाज उपलब्ध हो सके।
  • अच्छी तरह सुखाए हुए दाने साफ स्टोरेज बिन या पूसा बिन में रखे जा सकते है।